Top
Begin typing your search...

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में महिला आयोग की टीम ने रजिस्ट्रार और वित्त अधिकारी को हटाने की सिफारिश की

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में महिला आयोग की टीम ने रजिस्ट्रार और वित्त अधिकारी को हटाने की सिफारिश की
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रजिस्ट्रार को पद से हटाने की सिफारिश की है। महिला आयोग ने स्पष्ट किया कि रजिस्ट्रार प्रोफेसर एनके शुक्ला अभी भी पूर्व कुलपति के संपर्क में हैं और ऐसे में वह पूर्व कुलपति के खिलाफ मंत्रालय की ओर से की जा रही जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

शशांक मिश्रा

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रोफेसर रतनलाल हंगलू के इस्तीफे के बाद इलाहाबाद विश्वविद्यालय परिसर में छात्राओं की शिकायतों पर जांच करने पहुंची राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम ने विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार प्रोफेसर एनके शुक्ला और वित्त अधिकारी डॉ सुनीलकांत मिश्र को हटाने की सिफारिश की है।

रजिस्ट्रार को पद से हटाने की सिफारिश की है। महिला आयोग ने स्पष्ट किया कि रजिस्ट्रार प्रोफेसर एनके शुक्ला अभी भी पूर्व कुलपति के संपर्क में हैं और ऐसे में वह पूर्व कुलपति के खिलाफ मंत्रालय की ओर से की जा रही जांच को प्रभावित कर सकते हैं।

आपको बता दें कि राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्‍यक्ष बुधवार को ही दिल्ली से शहर आ गई थी। वह सीधे सर्किट हाउस पहुंची और चार बजे ऋचा सिंह को फोन कर बुलाया। यहां अध्यक्ष के अलावा लीगल एडवाइजर प्रियंका मिड्ढा, काउंसलर शालिनी सिंह, इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) के वुमेन एडवाइजरी बोर्ड की पूर्व अध्यक्ष प्रो. रंजना कक्कड़ के साथ बैठक की। इस दौरान ऋचा ने रजिस्ट्रार प्रो. एनके शुक्ल और पूर्व जनसंपर्क अधिकारी डॉ. चित्तरंजन कुमार की शिकायत की।

Next Story
Share it