Top
Begin typing your search...

सोनिया के रायबरेली की कांग्रेस विधायक बोलीं, योगी आदित्यनाथ मेरे राजनैतिक गुरु!

सोनिया के रायबरेली की कांग्रेस विधायक बोलीं, योगी आदित्यनाथ मेरे राजनैतिक गुरु!
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली. रायबरेली (Raebareli) सदर से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह (Congress MLA Aditi Singh) ने सोमवार को बड़ा बयान दिया हैं. उन्होंने कहा कि मेरी सियासत के राजनीतिक गुरु सीएम योगी आदित्यनाथ हैं. जिनकी वजह से मैं हर लड़ाई लड़ रही हूं.

दरअसल रायबरेली के सिविल लाइन चौराहे पर स्थित कमला नेहरू ट्रस्ट की जमीन पर कई दशकों से काबिज पटरी दुकानदारों को माननीय न्यायालय के आदेश पर वंहा से हटाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा नोटिस दिए जाने के बाद आज उन दुकानदारों के पक्ष में सदर विधायिका अदिति सिंह खुल कर उतर आई.

विधानसभा अध्यक्ष द्वारा अदिति सिंह की सदस्यता पर निर्णय आने के बाद पहली बार कांग्रेस विधायक ने भारी संख्या में मौजूद भीड़ के सामने उनके समर्थकों ने योगी आदित्यनाथ जिंदाबाद के नारे लगवाए.

समर्थकों के जोश के साथ अदिति सिंह कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मेरे राजनीतिक गुरु है और मै इस मामले को मुख्यमंत्री योगी के संज्ञान में ले जाऊंगी. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने मामले की जांच कराने का भरोसा दिया है. योगी जी की सरकार में किसी पर कोई अत्याचार नहीं होगा.

प्रशासन ने इस मामले में गरीबो की नहीं सुनी, उनको सुनवाई के मौका तक नहीं मिला. उन्होंने कहा कि मेरे पिता ने हमेशा गरीबों की लड़ाई लड़ी मैं उनके रास्ते पर चल रही हूं. इस दौरान उन्होंने कमला नेहरू ट्रस्ट पर निशाना साधते हुए कहा कि जब जमीन पर कई दशक से ये दुकानदार काबिज है तो ट्रस्ट के पक्ष में ये जमीन कैसे फ्री होल्ड हो गई.

लगातार पार्टी के खिलाफ बोलती रही हैं अदिति

गौरतलब है कि सूबे में योगी सरकार बनने के बाद से ही अदिति सिंह का झुकाव बीजेपी की तरफ देखने को मिला है. कई बार उन्होंने केंद्र व योगी सरकार के पक्ष में बोलती भी नजर आई. इतना ही नहीं गांधी जयंती के विशेष सत्र में हिस्सा लेने पर भी उन्होंने कहा था कि यह उनका फैसला था. वो इस विशेष सत्र का हिस्सा बनकर लोगों की बात रखने के लिए गई थीं.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it