Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > रामपुर > रामपुर जेल में कैसे बीते कैदी आज़म खान के 13 घंटे, रात भर बेचैनी ने और सुबह जेल प्रशासन ने सोने नहीं दिया

रामपुर जेल में कैसे बीते कैदी आज़म खान के 13 घंटे, रात भर बेचैनी ने और सुबह जेल प्रशासन ने सोने नहीं दिया

 Shiv Kumar Mishra |  27 Feb 2020 10:40 AM GMT  |  रामपुर

रामपुर जेल में कैसे बीते कैदी आज़म खान के 13 घंटे, रात भर बेचैनी ने और सुबह जेल प्रशासन ने सोने नहीं दिया

रामपुर (भोलानाथ शर्मा). समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान, उनकी पत्नी विधायक तंजीन फातिमा व पूर्व विधायक अब्दुल्ला ने रामपुर जेल में 13 घंटे बिताए। इसके बाद तीनों को कानून व्यवस्था का हवाला देकर सीतापुर जेल में शिफ्ट कर दिया गया। विधायक तंजीन फातिमा को महिला बैरक में रखा गया, जबकि आजम खान और उनका बेटा अब्दुल्ला एक ही बैरक में रहे। एक जेल अफसर ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया- तीनों ने रात में दाल, आलू-पत्ता गोभी की सब्जी, रोटी खाकर सोने की कोशिश की। रात भर बेचैनी के कारण वह सो नहीं पाए, सुबह नींद लगी तो जेल प्रशासन ने सीतापुर ले जाने के लिए जगा दिया। कड़ी सुरक्षा के बीच सीतापुर जेल शिफ्ट कर दिया गया।

सिर झुकाकर नहीं दाखिल हुए, पूरा गेट खुलवाया

बुधवार की शाम करीब चार बजे जिला अदालत से आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा व बेटे अब्दुल्ला को कड़ी सुरक्षा के बीच जेल लाया गया। जेल के बाहर आजम समर्थकों की काफी भीड़ थी। पुलिस की गाड़ी से उतरकर आजम ने सभी का अभिवादन स्वीकार किया। नियमत: जेल लाए गए आरोपी को छोटे गेट से झुककर भीतर प्रवेश करना होता है। लेकिन, आजम ने कर्मचारी से कहा- गेट खोलो। जेल का पूरा गेट खुलने पर आजम भीतर दाखिल हुए।

रामपुर जेल में दाल-सब्जी व रोटी खाई, एक ही बैरक में आजम और उनके बेटे ने करवट बदल-बदलकर रात बिताई

आजम पर 83 मुकदमे चल रहे विभिन्न अदालतों में, बुधवार को एडीजे कोर्ट ने आजम, उनकी पत्नी व बेटे को जेल भेजा था

रामपुर जेल में एक रात गुजारने के बाद प्रशासन ने कानून व्यवस्था का हवाला देकर सीतापुर जेल शिफ्ट किया

जेल जाने की थी जानकारी, इसलिए साथ लाए थे दवा

आजम खान ने अपर जिला न्यायाधीश धीरेंद्र कुमार की अदालत को बताया था कि उनकी तबियत ठीक नहीं रहती। पत्नी तंजीन भी बीमार चल रही हैं। वे सीढ़ियां तक नहीं चढ़ सकतीं। वो खुद सांसद व पत्नी विधायक हैं। इसलिए उनकी सेहत को ध्यान में रखते हुए सुविधाएं दी जाएं। कोर्ट ने जेल प्रशासन को सांसद व विधायक के स्वास्थ्य की जांच कराने का निर्देश दिया। लिहाजा जेल पहुंचने पर डॉक्टरों ने आजम व तंजीन का चेकअप किया। शायद आजम को इस बात का इल्म था कि, उन्हें जेल हो सकती है, इसलिए दोनों नेता अपने साथ दवाएं लेकर आए थे। डॉक्टरों ने दवाओं को चेक कर उन्हें सौंप दिया।

हम क्या कहें, क्या हो रहा ये पूरे देश को मालूम: आजम

आजम खान को सीतापुर जेल ले जाने की खबर मिलते ही वहां सपा के तमाम नेता जुट गए थे। मीडिया का भी जमावड़ा था। पुलिस की गाड़ी से उतरते ही आजम खान ने कहा- इस समय क्या हो रहा है, यह पूरा देश जानता है। हम क्या कहें? इतना कहने के साथ ही उन्हें जेल के अंदर पहुंचा दिया गया।

कुर्की का आदेश होने पर आजम ने किया था समर्पण

आजम, उनकी पत्नी व बेटे के खिलाफ मंगलवार को अपर जिला न्यायाधीश धीरेंद्र कुमार की अदालत ने कुर्की का वारंट जारी किया था। यह वारंट पूर्व विधायक अब्दुल्ला आजम के दो जन्म प्रमाणपत्र बनवाने से संबंधित मुकदमे में जारी किए गए थे। अदालत में पेश न होने के कारण तीनों के खिलाफ गैर जमानती वारंट पहले ही जारी किए जा चुके थे। बुधवार को तीनों ने अपर जिला न्यायाधीश की अदालत में समर्पण किया था। जहां उन्हें दो मार्च तक के लिए न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it