Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सहारनपुर > दून आयुर्वेदिक कॉलेज 7 दिन के लिए बंद

दून आयुर्वेदिक कॉलेज 7 दिन के लिए बंद

जमानत पर छूटने के बाद चेयरमैन ने जारी किया फरमान, गर्ल्स हॉस्टल को भी खाली कराने की प्रतिक्रिया शुरू

 Special Coverage News |  2018-09-23 04:56:23.0

दून आयुर्वेदिक कॉलेज 7 दिन के लिए बंद

सहारनपुर (बिहारीगढ़) :- दून कॉलेज में छेड़छाड़ को लेकर हुए बवाल के बाद कॉलेज प्रबंधन ने दून आयुर्वेदिक कॉलेज 7 दिन के लिए बंद करने की घोषणा कर दी है गर्ल्स हॉस्टल को भी खाली कराने की प्रतिक्रिया शुरू कर दी गई है इसे लेकर कॉलेज के छात्र-छात्राओं में आक्रोश है उन्होंने कॉलेज का संचालन प्रबंधन समिति से लेकर आयुष मंत्रालय द्वारा किए जाने की मांग की है

आपको बता दें कि बुधवार की रात दून आयुर्वेदिक कॉलेज से छात्राओं की शिकायत पर पुलिस ने वार्डन राकेश चौधरी को गिरफ्तार किया था बृहस्पतिवार की सुबह कॉलेज प्रबंधक के रवैये के खिलाफ छात्राओं ने हंगामा करते हुए दून हाईवे को भी जाम करने का प्रयास किया था इसके बाद पुलिस ने वार्डन को जेल भेजने के साथ ही चेयरमैन प्रवीण चौधरी सहित उनके पिता और दो भतीजो का शांति भंग की धारा में चालान कर दिया था

एसडीएम नकुड़ से जमानत के बाद शुक्रवार को चेयरमैन प्रवीण चौधरी ने दून आयुर्वैदिक कॉलेज को 7 दिन के लिए बंद करने का फरमान जारी कर दिया साथ ही छात्राओं को भी हॉस्टल खाली करने का नोटिस दे दिया इन्हें हॉस्टल खाली करने के लिए 7 दिन का वक्त दिया गया है इसके बाद यहां छात्र-छात्राओं में हड़कंप मचा है उनका कहना है कि कॉलेज प्रबंधन के इस रवैया से उनकी पढ़ाई प्रभावित हो रही है उन्होंने हॉस्टल के पूरी फीस 60000 रुपए भी एडवांस में जमा कर रखी है प्रबंधन के रवैये से डरी छात्राओं ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि पुलिस कार्रवाई के बाद यह प्रबंधन का उत्पीड़नात्मक कदम है यदि हॉस्टल खाली करना है तो उनकी जमा की गई फीस को वापस की जाए साथ ही पर्याप्त फैकेल्टी की व्यवस्था पढ़ाने के लिए की जाए

उन्होंने कॉलेज का संचालन प्रबंधन से लेकर आयुष मंत्रालय द्वारा कराए जाने की मांग भी की आशंका जताई कि अब कॉलेज प्रबंधन उनका अहित करेगा इस मुद्दे को लेकर बिहारीगढ़ में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के जिला संयोजक सुन्नी सैनी और पंकज भैया ने कहां छात्रों का शोषण किसी भी सूरत में नहीं होने दिया जाएगा यदि कॉलेज प्रबंधन ने अपना रवैया नहीं बदला तो आंदोलन किया जाएगा आरोप लगाया है कि कॉलेज प्रबंधन ने करोड़ों रुपए की छात्रवृत्ति का भी घोटाला कर रखा है उसकी भी जांच कराई जाएगी उन्होंने कहा कि जल्द ही जिलाधिकारी से मिलकर पूरे प्रकरण की जांच की मांग की जाएगी उधर चेयरमैन प्रवीण चौधरी का कहना है कि कॉलेज इसलिए बंद किया जा रहा है ता के हॉस्टल के छात्र छात्राएं इस अवधि में अपने रहने की व्यवस्था कर ले किसी भी तरह से उत्पीड़न का आरोप मिथ्या है

रिपोर्ट :- अंकुर सैनी/ललित कुमार

Tags:    
Share it
Top