Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सन्त कबीर नगर > संतकबीरनगर में सूदखोर की हत्या करने आये 2 सुपारी किलर व साजिशकर्ता पुलिस मुठभेड़ मे गिरफ्तार - आकाश तोमर

संतकबीरनगर में सूदखोर की हत्या करने आये 2 सुपारी किलर व साजिशकर्ता पुलिस मुठभेड़ मे गिरफ्तार - आकाश तोमर

 Special Coverage News |  2018-10-28 10:37:05.0  |  संतकबीर नगर

संतकबीरनगर में सूदखोर की हत्या करने आये 2 सुपारी किलर व साजिशकर्ता पुलिस मुठभेड़ मे गिरफ्तार - आकाश तोमर

पुलिस अधीक्षक संतकबीरनगर आकाश तोमर ने जिले में अपराध एवं अपराधियो के विरुद्ध अभियान चला रखा है. इसी क्रम में पुलिस सक्रियता से जनपद में अपरधियों को खंगालने में जुटी हुई है. इस दौरान प्रभारी स्वाट टीम अल्फा निरीक्षक प्रदीप कुमार सिंह व प्रभारी चौकी औद्यौगिक क्षेत्र खुश मोहम्मद के नेतृत्व मे गठित संयुक्त टीम द्वारा कोतवाली खलीलाबाद क्षेत्र के अन्तर्गत भैसहिया मोड़ के पास से मुठभेड़ मे 3 अभियुक्तगण सच्चिदानन्द उर्फ भल्लर, संतोष कुमार पाण्डेय और अजय कुमार मिश्रा उर्फ मुन्नू को दो तमंचा, एक खोखा कारतूस, एक जीवित कारतूस व एक चाकू के साथ गिरफ्तार किया. इनके खिलाफ जनपद के कई थानों में मुकद्दमे पंजीकृत है.


इस घटना का खुलासा करते हुए एसपी आकाश तोमर ने कहा कि अभियुक्तगण से पूछताछ की गयी तो अजय कुमार ने बताया कि मै जमीन खरीदता एवं बेचता हूँ. मैने चन्द्रभान यादव पुत्र कोदई निवासी भैसाखूट थाना धनघटा से डेढ़ वर्ष पूर्व 32 लाख रुपये लिये थे रुपये 8 प्रतिशत ब्याज पर लिये थे. मैने चन्द्रभान यादव को इस अवधि मे लगभग 50 लाख रुपये विभिन्न तिथियो मे वापस भी किया है. अभी भी चन्द्रभान यादव हमसे 50 लाख रुपये जबरन लेना चाहते है मुझे कई बार अपने डेरी फार्म पर बंधक बनाकर मॉ बहन की गाली देता था एवं जान से मार डालने की धमकी भी देता था.


एसपी ने कहा कि अभियुक्तों ने बताया कि इनके तगादे से आजिज आकर मैने पहले संतोष पाण्डेय से सम्पर्क कर चन्द्रभान यादव की हत्या हेतु तैयार किया.इसके लिये पिछले 3 माह मे कुल ढाई लाख रुपये दिये, उसके बाद मैने अपने गॉव के पड़ोसी सच्चिदानन्द उर्फ भल्लर को तैयार किया जिसके लिये उन्हे 6 लाख रुपये देने थे. पेशगी के तौर पर उन्हे 90 हजार दिये. इधर लगातार एक सप्ताह से हम तीनो अलग-अलग समय पर चन्द्रभान की रेकी कर सच्चिदानन्द व संतोष कुमार पाण्डेय को पहचनवा दिये थे आज हम तीनो यहा एकत्र हुये थे. अभी मै चन्द्रभान यादव को फोन करके मंझरिया मोड़ के आस पास बुलाकर स्वयं गोरखपुर की ओर चला जाता तथा सच्चिदानन्द व संतोष दोनो मिलकर चन्द्रभान की हत्या कर देते. जिसकी पुष्टि गिरफ्तार अभियुक्त सच्चिदानन्द व संतोष द्वारा की गयी.

गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम

प्रभारी स्वाट टीम अल्फा प्रदीप कुमार सिंह, प्रभारी चौकी औद्यौगिक क्षेत्र खुश मोहम्मद, एसआई राजकुमार यादव, मुख्य आरक्षी अवध नरायन सिंह, सिपाही देवनरायन, सिपाही विनोद यादव, सिपाही राणा यादव, सिपाही मुनीर अहमद, सिपाही संजय तिवारी की टीम ने इस मुठभेड़ को अंजाम दिया.


एसपी आकाश तोमर ने फिर अपनी पुरानी बात दोहराते हुए कहा कि जनपद में अपराधियों का बोलबाला खत्म करना और हर आम जन मानस के मन में सुरक्षा का द्रष्टि कोण उत्पन्न करना उनका प्रमुख उद्देश्य है. उन्होंने कहा कि जब जिले का हर छोटा बड़ा आदमी अपने की सुरक्षित महसूस करने लगेगा तो मुझे लगेगा कि में अपने मकसद में कामयाब हूँ.

Tags:    

नवीनतम

Share it
Top