Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > शाहजहांपुर > यूपी के निगोही थाने में घुसकर ग्रामीणों ने इंस्पेक्टर समेत पुलिस कर्मियों को बुरी तरह पीटा

यूपी के निगोही थाने में घुसकर ग्रामीणों ने इंस्पेक्टर समेत पुलिस कर्मियों को बुरी तरह पीटा

इंस्पेक्टर की उंगली टूटी, तीन सिपाही भी हुए घायल

 Shiv Kumar Mishra |  2 Oct 2020 5:43 AM GMT  |  शाहजहांपुर

यूपी के निगोही थाने में घुसकर ग्रामीणों ने इंस्पेक्टर समेत पुलिस कर्मियों को बुरी तरह पीटा
x

निगोही थाने में घुसकर ग्रामीणों ने इंस्पेक्टर समेत पुलिस कर्मियों को पीटा

इंस्पेक्टर की उंगली टूटी, तीन सिपाही भी हुए घायल

थाने का सीयूजी नम्बर उठा ले गए हमलावर, आला अधिकारी मौके पर

थाने में पूर्व प्रधान की पिटाई के बाद बिगड़ा माहौल

शाहजहांपुर। निगोही थाने में एक पूर्व प्रधान की पिटाई से नाराज ग्रामीणों ने थाने में घसूकर इंस्पेक्टर समेत सिपाहियों की जमकर पिटाई कर दी। हमलावरों की पिटाई से इंस्पेक्टर की उंगली टूट गई तो वहीं तीन सिपाही भी जख्मी हो गए।

पुलिस पर हमला करने वाले ग्रामीण थाने का सीयूजी मोबाइल भी उठा ले गए। घटना के बाद घायल पुलिस कर्मियों को सीएचसी निगोही में एडमिट करवाया गया जहां उन्हें प्राथमिक उपचार दिया गया। सूचना पाकर एसपी सिटी संजय कुमार व सीओ सदर भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस हमलावरों की तलाश में दबिश दे रही है।

पहले बिजली उपकेंद्र पर हंगामा फिर थाने पर बवाल

घायल एसओ गोविंद सिंह ने बताया कि मामला थाना निगोही थाने का है. यहां देर रात हमजापुर में लो-वोल्टेज बिजली की शिकायत को लेकर बीजेपी विधायक का ड्राइवर महेंद्र ग्रामीणो के साथ बिजलीघर गया. आरोप है कि महेंद्र ने बिजली कर्मचारी को थप्पड़ मार दिया. इसके बाद ग्रामीणों ने बिजली घर में तोड़फोड़ कर दी. इसके बाद ये लोग थाने पर आकर सड़क पर बैठ गए और प्रदर्शन शुरू कर दिया. मामले में पुलिस समझाने गई तो पुलिस से भी झड़प हो गई. इसके बाद गुस्साए ग्रामीणों ने थाने पर ही हमला कर दिया और थाने में घुसकर ग्रामीणों ने जमकर उत्पात मचाया. लाठी-डंडों से हमला किया गया, जिसमें एसओ, इंस्पेक्टर और दो सिपाही घायल हुए हैं. इस दौरान ग्रामीणों ने सीयूजी नंबर का मोबाइल भी ले गए.

मोबाइल फुटेज से हो रही आरोपियों की पहचान

इसके बाद रात में सीओ सिटी, सीओ सदर तहसील सिटी ने दौरा किया. एसपी सिटी संजय कुमार ने बताया कि देर रात बीजेपी विधायक रोशन वर्मा के चालक महेंद्र समेत 7 लोगों की नामजद करते हुए करीब 40-50 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया. पुलिस मोबाइल फुटेज के जरिये आरोपियों की पहचान कर रही है. देर रात दबिश के बाद पुलिस ने अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर पाई है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it