Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > शामली > बदमाश भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय की गिरफ़्तारी के लिए ईनाम की राशि बढ़ाकर की गई 25,000 हजार

बदमाश भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय की गिरफ़्तारी के लिए ईनाम की राशि बढ़ाकर की गई 25,000 हजार

एसपी अजय कुमार ने कहा है कि इस 25-हज़ारी बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश के बारे में कोई भी सूचना मिले तो निम्न मोबाइल नम्बरों पर तत्काल अवगत कराएँ। घबराएँ बिल्कुल नहीं; क्योंकि आपका नाम व आपका मोबाइल नम्बर पूरी तरह से गुप्त रखा जाएगा।

 Special Coverage News |  18 Sep 2019 3:09 AM GMT  |  शामली

बदमाश भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय की गिरफ़्तारी के लिए ईनाम की राशि बढ़ाकर की गई 25,000 हजार

कुकर्मों के लिए कुख्यात, काँधला क़स्बे के अन्तर्राज्यीय हिस्ट्रीशीटर बदमाश आशुतोष पाण्डेय उर्फ़ अश्विनी उर्फ़ भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय पर कुछ दिन पहले ही रूपया 20,000/- का ईनाम घोषित होते ही यह बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश कर गया था प्रदेश से पलायन; शामली पुलिस द्वारा इसके छिपने के सभी ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी बादस्तूर जारी है, पर अब तक लगातार मोबाइल नम्बर बदलते हुए भागता फिर रहा है। इसीलिए, शीघ्र गिरफ़्तारी हेतु ईनाम की धनराशि और भी अधिक बढ़ाए जाने पर लगातार हो रहा था विचार-मंथन; और अब ईनाम की राशि बढ़ाकर पूरे 25,000/-रूपये कर दी गई है. यह जानकारी एसपी अजय कुमार पाण्डेय ने दी है.

एसपी अजय कुमार ने बताया कि इसके द्वारा लगातार किए जा रहे तमाम तरह के जघन्य अपराधों से हासिल की गई सभी ज़मीन-जायदाद की मुकम्मल कुर्क़ी की भी हो रही है पुख़्ता तैयारी। यह बात अब बवंडर की माफ़िक़ फैल चुकी है कि ऊपर बताए गए बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश हिस्ट्रीशीटर भृगुवंशी आशुतोष पाण्डेय के ख़िलाफ़ विभिन्न ज़िलों व प्रदेशों में अब तक 20 की संख्या में जघन्य, घिनौने व संगीन मामले तमाम पुलिस थानों में दर्ज हो चुके हैं।

जगह-जगह लोगों में, महिलाओं में, पुरूषों में, बड़े-बूढ़े-बुज़ुर्गों में, गलियों में, क़स्बों में, खेतों में, बाज़ारों में इस इनामिया हिस्ट्रीशीटर बदमाश के बारे में यह चर्चा भी आम हो चुकी है कि इसके ख़िलाफ़ अब तक गाय व गोवंश की तस्करी (3/5 A, Cow Slaughter Act), बलात्कार का प्रयास (376/511 IPC), हत्या का प्रयास (307 IPC), रंगदारी का अपराध (386 IPC), चार सौ बीसी (420 IPC) व धोखाधड़ी के अन्य तमाम मामले (467, 468, 471 IPC) तमाम पुलिस थानों में दर्ज हो चुके हैं।

उन्होंने बताया कि इतना ही नहीं, इस बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश के ख़िलाफ़ साम्प्रदायिक माहौल ख़राब करने का अपराध (153 A IPC), गुण्डा ऐक्ट (UP GOONDA ACT), गैंग्स्टर ऐक्ट (गिरोहबंद अधिनियम), आई टी ऐक्ट (IT ACT), जान-पहचान के निर्दोष लोगों को भी धोखे से अपने घर बुलाकर या उनके घर / ऑफ़िस पर जाकर उन्हें फ़र्ज़ी केस में फँसाने के संगीन व घिनौने अपराधों (420, 211, 342 IPC) समेत मारपीट (323, 324 IPC) के दर्जनों मुकद्में तमाम पुलिस थानों में दर्ज और 'चार्जशीटेड' हो चुके हैं।

यह बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश अपने ख़िलाफ़ व अपने गंदे-गुमराह-गिरोह के अन्य बदनाम-बदमाशों के ख़िलाफ़ सख़्त क़ानूनी कार्यवाही करने वाले ईमानदार व लोकप्रिय पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों पर अनाप-शनाप-अनर्गल आरोप लगाने का आदी बन चुका है। ख़ुद के माध्यम से किसी पर भी 377 IPC (अप्राकृतिक यौन संबंध) के फ़र्ज़ी केस लगाना, आय से अधिक संपत्ति की जाँच कराने की गीदड़-भभकी देना, कार्यालय / आवास पर आत्मदाह कर लेने की धमकी देना, मान-हानि का केस करने की धमकी देना, बड़े-बड़े नेताओं / अधिकारियों को गुलदस्ता देने व उनसे शिष्टाचार भेंट करने का माया-जाल बिछाकर बेहद चालाकी से महानुभावों के साथ फ़ोटो खिंचवाकर वायरल करना तथा भोली-भाली आम जनता के साथ छल और ठगी करना इसका पसंदीदा शग़ल व 'फ़ुल-टाइम' पेशा होने की बात मुखबिरों द्वारा लगातार बताई जा रही है।

एसपी अजय कुमार ने कहा है कि इस 25-हज़ारी बर्बर-बहुरूपिया-बदमाश के बारे में कोई भी सूचना मिले तो निम्न मोबाइल नम्बरों पर तत्काल अवगत कराएँ। घबराएँ बिल्कुल नहीं; क्योंकि आपका नाम व आपका मोबाइल नम्बर पूरी तरह से गुप्त रखा जाएगा।

प्रभारी निरीक्षक थाना काँधला, 9454404071, पुलिस कण्ट्रोल रूम शामली 9454405124. पुलिस अधीक्षक शामली ९४५४४००४२९


सटीक सूचना देने वाले को अग्रिम धन्यवाद।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story

नवीनतम

Share it
Top