Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > शामली > शामली में संदिग्ध करोना पॉजिटिव ने जिला अस्पताल में किया सुसाइड, मचा हडकम्प, डीएम एसपी मौके पर

शामली में संदिग्ध करोना पॉजिटिव ने जिला अस्पताल में किया सुसाइड, मचा हडकम्प, डीएम एसपी मौके पर

मेडिकल परीक्षण की जांच आने के बाद ही कोरोना वायरस से संबंधित कोई लक्षण की बात कही जा सकती है।

 Shiv Kumar Mishra |  2 April 2020 7:07 AM GMT  |  शामली

शामली में संदिग्ध करोना पॉजिटिव ने जिला अस्पताल में किया सुसाइड, मचा हडकम्प, डीएम एसपी मौके पर

शामली। जनपद शामली के कस्बा कांधला क्षेत्र निवासी कोरोना संदिग्ध मरीज ने स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते जिला अस्पताल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मरीज को गत 30 मार्च को जिला अस्पताल में कोरोना वायरस के लक्षण होने के चलते भर्ती किया गया था।जिसकी जांच करते हुए नमूने मेरठ के लिए भेजे गए थे। लेकिन गुरुवार को संदिग्ध मरीज ने जिला अस्पताल परिसर में ही फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

दरअसल जनपद शामली के कस्बा कांधला क्षेत्र निवासी कर्मवीर एक 40 वर्षीय व्यक्ति को कोरोना वायरस के लक्षण होने के चलते जिला अस्पताल में भर्ती किया गया था। जहां गत 30 मार्च को मरीज की जांच करते हुए नमूने परीक्षण के लिए भेजे गए थे।लेकिन बताया जाता है कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते मरीज मानसिक रूप से परेशान था।आए दिन चिकित्सकों द्वारा मधुर व्यवहार नहीं किया जा रहा था और उसी के चलते गुरुवार को पीड़ित मरीज ने जिला अस्पताल में बनाए गए क्वॉरेंटाइन वार्ड में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

मरीज द्वारा आत्महत्या किए जाने से जिला प्रशासन में हड़कंप मच गया सूचना पर जिला अधिकारी जगजीत कौर और पुलिस अधीक्षक विनीत जयसवाल सहित आला अधिकारी मौके पर पहुचे, जहां से मरीज के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मरीज द्वारा फांसी लगाकर की गई आत्महत्या से स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही सामने आती है। जिस कारण स्वास्थ्य विभाग द्वारा मीडिया कर्मियों को भी अंदर नहीं घुसने दिया गया और ना ही किसी प्रकार की जानकारी दी गई। जिला अधिकारी जगजीत कौर ने बताया कि मरीज को कोरोना वायरस के लक्षण होने के चलते भर्ती किया गया था जिसके बाद उसकी जांच करते हुए नमूने मेडिकल परीक्षण के लिए भेजे गए थे। मेडिकल परीक्षण की जांच आने के बाद ही कोरोना वायरस से संबंधित कोई लक्षण की बात कही जा सकती है।



डीएम शामली जगजत कौर का कहना है जिसने भी स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी लोगों ने लापरवाही की है उसको बख्शा नहीं जाएगा उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई होगी डीएम ने बताया पॉजिटिव मरीज ने जिलाअस्पताल में ही आत्महत्या की है जिसकी जांच चल रही है

सीएमओ संजय भटनागर है सीएमओ का कहना है कोरोना कुछ बिट्में हॉस्पिटल में आत्महत्या की है इसमें स्वास्थ्य विभाग की कोई लापरवाही नहीं है पॉजिटिव मरीज की जांच मेरठ भेज दी है जो जल्द आएगी

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it