Top
Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सोनभद्र > उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खूनी संघर्ष, दस की मौत बीस घायल मचा हडकम्प

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खूनी संघर्ष, दस की मौत बीस घायल मचा हडकम्प

मरने वालों में तीन महिलाएं और सात पुरुष शामिल हैं। वहीं घायलों की संख्या दर्जन भर से अधिक है जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।

 Special Coverage News |  17 July 2019 11:24 AM GMT  |  सोनभद्र

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में खूनी संघर्ष, दस की मौत बीस घायल मचा हडकम्प
x

सोनभद्र में भूमि विवाद को लेकर आपसी विवाद खूनी संघर्ष में तब्दील हो गया। इस खूनी संघर्ष में दस लोगों की मौत हो गई और 18 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।घोरावल के मूर्तिया गांव में बुधवार की दोपहर में जमीनी रंजिश को लेकर हुए आपसी विवाद में जमकर खूनी संघर्ष हुआ। स्थानीय लोगों के अनुसार विवाद के दौरान आपस में असलहे से फायरिंग और गड़ासा चलने से कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

मामले की जानकारी होने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया जहां पर कई की स्थिति गंभीर बनी हुई है। मरने वालों में तीन महिलाएं और सात पुरुष शामिल हैं। वहीं घायलों की संख्या दर्जन भर से अधिक है जिनका अस्पताल में इलाज चल रहा है।भूमि विवाद गुर्जर व गोड़ जाति के बीच शुरू हुआ था जो देखते ही देखते खूनी संघर्ष में बदल गया और गांव में लाशें बिछ गईं। इस पूरे मामले के बाद इलाके में सनसनी मच गई।

सोनभद्र नरसंहार पर डीजीपी का ने कहा कि जमीनी विवाद पहले से चल रहा था. बिहार कैडर के एक IAS ने जमीन खरीदी थी. स्थानीय लोगों ने इसका विरोध किया था. दो लोगों को गिरफ्तार किया. गांव में सर्च ऑपरेशन चल रहा है. 'दो ग्राम प्रधानों ने फायरिंग की करवाई है. 'ग्राम प्रधान के भतीजों को अरेस्ट किया गया है.

वहीँ इस मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए डीजीपी को खुद इस केस की मोनिटरिंग पर लगाया है जबकि जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार करने के निर्देश भी दिए है. जिलाधिकारी से इस केस के बारे में भी बातचीत की है.

गौरतलब है कि इस भूमि विवाद को लेकर तहसील में भी शिकायत की गई थी. जिसमे 145 के तहत कार्रवाई हुई थी. बावजूद इसके इतनी बड़ी घटना हो जाना कहीं न कहीं जिला प्रशासन और पुलिस पर सवालिया निशान खड़ा करती है.

ग्राम प्रधान और उसके साथियों पर गोली चलाने का आरोप

मिल रही जानकारी के मुताबिक दोनों पक्षों में जमीन को लेकर काफी दिनों से तनाव चल रहा था. बुधवार सुबह एक पक्ष खेत को जोतने गया था, उसी वक्त ग्राम प्रधान और उसके लोग वहां पहुंचे और और उनका विरोध किया. इस बीच दूसरे पक्ष के लोग भी मौके पर आ गए. इसके बाद मामला इतना बढ़ा कि ग्राम प्रधान और उनके साथियों ने गोलियां चलानी शुरू कर दी. कहा जा रहा है कि इस दौरान सैकड़ों राउंड गोलियां चली.इस खूनी संघर्ष में 6 पुरुष और 3 महिलाओं की मौत हो गई. जबकि तीन अन्य घायल हैं, जिनका इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it