Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सुल्तानपुर > कुम्हार की तरह शिक्षक विद्यार्थियों को विकसित करता है: मनीराम

कुम्हार की तरह शिक्षक विद्यार्थियों को विकसित करता है: मनीराम

सरस्वती विद्या मन्दिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय का दो दिवसीय वार्षिक निरीक्षण

 Special Coverage News |  28 Nov 2018 11:45 AM GMT  |  सुल्तानपुर

कुम्हार की तरह शिक्षक विद्यार्थियों को विकसित करता है: मनीराम

आज 28 नवम्बर विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षण संस्थान की व्यवस्थानुसार सरस्वती विद्या मन्दिर के वार्षिक निरीक्षण की व्यवस्था बनायी गई है, जिसमें सरस्वती विद्या मन्दिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, विवेकानन्दनगर का निरीक्षण गाजीपुर और शक्तिनगर के प्रधानाचार्य सहित चार आचार्य, लिपिक निरीक्षण कर रहे हैं।




विद्यालय के दो दिवसीय वार्षिक निरीक्षण के प्रथम दिन आज वन्दना सभा में अतिथियों के स्वागत के साथ सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया, इसमें बालिकाओं ने आकर्षक प्रस्तुति दी। इससे पहले प्रधानाचार्य शेष मणि मिश्र, आचार्य महेन्द्र तिवारी, राकेश सिंह, रमेश मिश्र, कमलेश तिवारी, द्वारिका नाथ पाण्डेय, लक्ष्मी नारायण शुक्ला, अनिल पाण्डेय ने अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर सरस्वती विद्या मन्दिर गाजीपुर के प्रधानाचार्य मनीराम जी ने कहाकि विद्यालय में कुम्हार की तरह शिक्षक विद्यार्थियों को विकसित करता है। जिस तरह से कुम्भार मिट्टी को अपनी मेहनत से पूजनीय बना देता है उसी भूमिका में विद्यालय का आचार्य है। विद्यालयों के वार्षिक निरीक्षण की व्यवस्था विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए बनायी गयी है। इनका विकास किस दृष्टि से हो रहा है यह उन्हें भी पता नहीं है। इसमें एक विद्यालय दूसरे विद्यालय से सीखते है और अपनी व्यवस्थाआंे को अधिक व्यवस्थित करते हैं।

इस अवसर पर सरस्वती विद्या मन्दिर शक्तिनगर के प्रधानाचार्य बलवन्त सिंह, आचार्य संजय पाण्डेय, अमित, भारतीय शिक्षा समिति के कार्यालय प्रमुख इकबाल नारायण सिंह, शक्तिनगर विद्या मन्दिर के कार्यालय प्रमुख मैनेजर लाल वर्मा, स्थानीय स्तर पर शिक्षक राम आसरे सिंह, डाॅ. पारस नाथ सिंह मौजूद रहें।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top