Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सुल्तानपुर > सुल्तानपुर में बीजेपी नेता और दरोगा में हुई गाली गलौज, वीडियो वायरल

सुल्तानपुर में बीजेपी नेता और दरोगा में हुई गाली गलौज, वीडियो वायरल

 Special Coverage News |  2018-11-16 04:46:19.0  |  सुल्तानपुर

सुल्तानपुर में बीजेपी नेता और दरोगा में हुई गाली गलौज, वीडियो वायरल

दो दिन पहले चाँदा थाना क्षेत्र में वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस कर्मियों ने भाजपा के एक नेता की पिटाई कर दी। नेता की पिटाई से नाराज पार्टी कार्यकर्ता कोतवाली पहुंच गए और पुलिस कर्मियों के खिलाफ प्रदर्शन व नारेबाजी की। जिसका वीडियो शोशल मीडिया पर वायरल हुआ।


एसपी ने सीओ लंभुआ को मामले की जांच सौंपी। देर शाम दरोगा व एक सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया गया। क्षेत्र के प्रतापपुर कमैचा गांव निवासी संतोष पांडेय भाजपा के मंडल कोषाध्यक्ष हैं। मंगलवार सुबह संतोष अपने पांच वर्षीय बेटे अंश का इलाज कराने बाइक से डॉक्टर के पास जा रहे थे। रास्ते में चांदा कोतवाली के दरोगा अमरनाथ व सिपाही धीरेंद्र राजवंशी वाहनों की चेकिंग कर रहे थे।

अभी मिर्जापुर का मामला ठंडा भी नहीं हुआ कि ऐसा मामला सुल्तानपुर जिले में भी दिखाई दिया। एक पुलिस कर्मी ने संतोष को रोका वाहन के कागजात मांगे। इस पर संतोष ने घर से कागजात लाने की बात कही। सूत्रों की माने तो संतोष का आरोप है कि इसी बीच दरोगा अमरनाथ ने अभद्रता शुरू कर दी। लेकिन आप इस वॉयरल वीडियो को देख खुद समझ जाएंगे कि भाजपा नेता जी का प्यार किस तरह पुलिस वालो पर छलक रहा है।


विरोध करने पर दरोगा व सिपाही ने संतोष के साथ हाथा-पाई की। उसके बाद क्यों न सेवा सत्कार मेहमानों का करते, इसलिए फिर मौके पर फोन करके दरोगा ने जीप बुला ली। फिर मेहमान नमाज़ी में पुलिस ने जीप में संतोष के साथ ही उनके बेटे अंश को भी बैठा लिया, और फिर थाने ले जाकर पुलिस कर्मियों ने लाठी और पट्टे से भरपूर संतोष नेता पर प्यार छलकाया। कहा जाता है कि पुलिस से न दोस्ती अच्छी न दुश्मनी अच्छी। इस प्यार के समय कोतवाल संजय सिंह भी थाने पर ही मौजूद थे, लेकिन इन दोनों के इस प्यार के बीच दखलंदाजी नहीं किया, क्योकि वह विलयन का रोल नहीं अदा करना चाहते थे। पार्टी नेता की पिटाई की सूचना मिलते ही दर्जनों कार्यकर्ता कोतवाली पहुंच गए और जमकर प्रदर्शन शुरू कर दिया, वही कार्यकर्ताओं ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक दोनों पुलिस कर्मियों को लाइन हाज़िर कर दिया। आखिर कप्तान साहब करते क्या। क्योकि मामला सत्ता पक्ष से जुड़ा था..............



Tags:    
Share it
Top