Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > सुल्तानपुर > पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने में रही नाकाम

पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने में रही नाकाम

 Special Coverage News |  7 April 2019 8:06 AM GMT  |  सुल्तानपुर

पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार करने में रही नाकाम

बलात्कार दहेज मारपीट का मुकदमा दर्ज होने के बाद भी पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नही कर रहा आरोपी लगातार पीड़िता को जान से मारने की धमकी दे रहे है पीड़िता पुलिस कप्तान के चौखट पर दस्तक देकर फरियाद कर रही है लेकिन ताज्जुब यह है कि जनपद के ईमानदार पुलिस कप्तान कहे जाने वाले अनुराग वत्स के आश्वाशन के बाद भी पुलिस की गिरफ्त से आरोपी दूर है।

क्या है मामला

मामला जनपद के थाना कोतवाली नगर के पांचो पीरनका है , जिसकी शादी बीते 1 जनवरी 2018 को कस्बा पांचो पीरन निवासी इरफान खान से हुआ था पीड़िता का कहना है की शादी होने के बाद वह अपने पति के साथ नगर के डिहवा मोहल्ले में किराए के मकान पर रहने लगे लेकिन पीड़िता अपने ससुराल पांचोपिरनआती-जाती रहती थी।

पीड़िता का आरोप है की जब वह अपने ससुराल आती थी तो उसके जेठ इमरान खान सुत सरफुद्दीन पीड़िता को गंदी निगाह से देखते और गंदी हरकतें भी किया करते थे पीड़िता का यह भी कहना है कि जब वह अपने पति को इस मामले से अवगत कराती तो उसका पति खुद ही उसे डांट कर कहता था कि मेरा भाई इस तरीके नहीं है पीड़िता का आरोप है कि एफ आई आर के लगभग चार माह पहले उसका पति व्यापार के काम से बाहर गए हुए थे पीड़िता के जेठ इमरान खान ने रात के लगभग 10:00 बजे अपनी मां का बीमारी का बहाना बताकर दरवाजा खुलवाया और पीड़िता का मुंह बंद कर कमरे को बंद करके जबरन उसके साथ बलात्कार किया और अपने मोबाइल में अश्लील फोटो भी खीच कर धमकी दिया कि अगर यह बात किसी को बताई तो ये फोटो इंटरनेट पर डाल कर तुम्हें बदनाम कर देंगे।

बहरहाल पीड़िता का कहना है कि जब उसका पति घर आया तो अपने पति से जेठ के द्वारा किए गए गलत हरकतों के बारे में बताया जिस पर पीड़िता के पति ने कहा कि यह बातें किसी को मत बताना नहीं तो बदनामी होगी पीड़िता और उसके पति अपने किराए के मकान नगर के डिहवा मोहल्ले चले आए पीड़िता का आरोप है उसके बाद जेठ ससुर सास द्वारा दहेज के लिए भी शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जाने लगा कहा जाने लगा किअपने घर से पांच लाख रुपये मांगो इसी बीच 8 नवंबर 2018 को पीड़िता के पति व्यापार के सिलसिले में बाहर चले गए और पीड़िता अपने ससुराल पांचोपीरन आ गई।

पीड़िता का कहना है 8 नवंबर 2018 की रात करीब 8:00 बजे पीड़ित के जेठ कमरे में घुसकर फिर से दुबारा जबरन बलात्कार किया और जब पीड़िता के पति बाहर से लौट कर आए तो पीड़िता ने सारी बातों से उन्हें अवगत कराया पीड़िता का आरोप है कि उनके पति जेठ सास ससुर सभी लोगों ने मिलकर लात घूसों से बुरी तरह मारे पीटे और कहे कि तुमने दहेज में एक पैसा भी नहीं लाया है और तुम्हें इमरान खान इरफान खान की पत्नी बन कर रहना पड़ेगा पीड़िता अपने पति के साथ किराए के मकान डिहवा चली आई।

पीड़िता का आरोप है कि 13 नवम्बर 2018 को किराए के मकान पर जेठ, ससुर सास ,व पति ,ने उन्हें दवा की बात कह कर दवा खिला दिया जिससे पीड़िता की तबीयत खराब होने लगी और सभी लोग पीड़िता को छोड़कर कमरे से चले गए पीड़िता का कहना है की इस मामले की जानकारी उनके भाई को लगी तो वह पीड़िता के कमरे पर पहुंचे और उन्होंने पीड़िता की नाजुक हालत को देखते हुए जिला चिकित्सालय ले गए जहां डॉक्टरों ने मेडिकल कॉलेज लखनऊ रेफर कर दिया।

बहरहाल लखनऊ में पीड़िता के इलाज के बाद डॉक्टरों की रिपोर्ट या बयां कर रही है की पीड़िता की तबीयत जहर खाने से खराब हुई थी पीड़ित ने इस पूरे प्रकरण की तहरीर 8 मार्च 2019 को कोतवाली नगर में दर्ज करा दिया है जिस पर पुलिस ने धारा 498a 323 506 376 दहेज प्रतिषेध अधिनियम 1961 के तहत धारा 3 धारा 4 मुकदमा पंजीकृत कर लिया लेकिन ताज्जुब यह है की लगभग 2 माह बीतने को हैं लेकिन पुलिस अभी तक आरोपियों को गिरफ्तारी नहीं कर सकी और पीड़ित पुलिस कप्तान के समच्छ प्रस्तुत होकर अपनी पीड़ा से अवगत कराकर न्याय की फरियाद की है देखना तो यह है कि पुलिस कप्तान इस पीड़िता को कैसे न्याय दिलायेंगे यह तो आने वाला वक्त ही बतायेगा बहरहाल पीड़िता का 164 मजिस्ट्रेटी बयान हो चुका है।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top