Home > राज्य > उत्तर प्रदेश > वाराणसी > मोदी की बनारस में: मेरी इज्जत चली जायेगी फिर जी कर क्या करूँगा, डाककर्मी बोले नेट ही नहीं है!

मोदी की बनारस में: मेरी इज्जत चली जायेगी फिर जी कर क्या करूँगा, डाककर्मी बोले नेट ही नहीं है!

 Special Coverage News |  1 Feb 2019 12:12 PM GMT  |  वाराणसी

मोदी की बनारस में:  मेरी इज्जत चली जायेगी फिर जी कर क्या करूँगा, डाककर्मी बोले नेट ही नहीं है!

आशुतोष त्रिपाठी

वाराणसी। बेटी की शादी है साहब कैसे भी करके मुझे मेरे पैसे दे दो नहीं तो मेरी बेटी की बारात नहीं आएगी, मेरी इज्जत चली जायेगी फिर जी कर क्या करूँगा, जी हां हर दिन डाकखाने के चक्कर काट रहे पिता के मार्मिक शब्द सबको झकझोर रहे है लेकिन डाकखाने वाले अपने कान बन्द किए है। मामला डाफी डाकखाने का है।

दरअसल डाफी निवासी रजीनिकान्त पाण्डेय की बेटी की शादी कुछ सप्ताह बाद होने वाली है। बेटी की शादी के लिए मेहनत से पैसा इकट्ठा कर डाकघर में जमा किए थे।

आरोप है कि शादी खर्च के लिए एफडी का पैसा निकालने जब रजीनिकान्त डाकखाने गए तो उनसे सुविधा शुल्क की मांग की गई, न देने पर कर्मचारी नेट समस्या की बात कहकर महीनों से दौड़ा रहे है। वहीं डाकघर के कर्मचारी कह रहे हैं कि नेट समस्या के कारण भुगतान नहीं हो पा रहा है जब समस्या दूर होगी तब पैसा दिया जाएगा।

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Share it
Top