Top
Begin typing your search...

पत्नी के मोबाइल पर पार्टनर के मैसेज देख बौखलाया पति , कर दिया क़त्ल

पत्नी के मोबाइल पर पार्टनर के मैसेज देख बौखलाया पति , कर दिया क़त्ल
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

हल्द्वानी (दीपक भंडारी)। काठगोदाम चांदमारी निवासी होटल कारोबारी अमित हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा करते हुए उसके ही पूर्व पार्टनर चांदमारी काठगोदाम निवासी हरीश चंद पंत को घटना में प्रयुक्त तमंचा व एक खोखा कारतूस के साथ गिरफ्तार कर दिया। पूरा मामला प्रेम प्रसंग का बताया जा रहा है। पकडा गया हत्यारोपी निचली अदालत में सविंदा के पद पर चतुर्थ श्रेणी मे कार्यरत है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ कार्यवाही कर न्यायालय मे पेश कर जेल भेज दिया।

काठगोदाम चांदमारी निवासी होटल कारोबारी अमित हत्याकांड का दस दिन बाद मृतक अमित के पूर्व पार्टनर को गिरफ्तार करते हुए एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने खुलासा करते हुए बताया कि बीते 24 दिसंबर की शाम अमित अपने होटल से घर लौट रहा था तभी पहले से घात लगाये बैठे हत्यारे ने घर के पास ही अमित के सीने से सटाकर गोली मार दी। और मौका पाकर फरार हो गया। जिसके बात मृतक की बहन शालिनी की ओर से मृतक की पत्नी सहित ससुरालियों पर हत्या की आंशका जताते हुए मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने ससुरालियो से गहनता से पूछताछ की लेकिन कोई सुराग हाथ नही लगा। उन्होने बताया कि जिसके बात पुलिस के जांच दायरे को बढाया गया और फिर जांच के दौरान अमित का पडोसी व पूर्व पार्टनर हरीश चंद्र पंत को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि आरोपी ने पूछताछ मे बताया कि अमित के परिवार के साथ पूर्व में होटल का व्यवसाय खोला था। व्यवसाय में दोनो के बीच मनमुटाव व आपसी रंजिश हो गयी थी और इस घटना से 6-7 दिन पहले हरीश ने अपनी पत्नी के मोबाइल में अमित के व्हाट्सएप मैसेज देखे थे और अपनी पत्नी को भी समझाया भी था। जिसके बाद हरीश ने अमित की हत्या का प्लान बनाया यही नहीं दो तीन बार पहले भी वह अमित के होटल सलड़ी चन्दा देवी

के पास मास्क पहनकर इसे मारने के लिए गया। उसने बताया कि वहां पर बाप बेटे बैठते थे क्योकिं मेरे पास एक ही गोली थी इसलिए मैने इसे अकेले मारने की प्लानिंग बनायी थी। वह मृतक के आते जाते समय में मृतक के गली में घूमता था। उसने रैकी से यह पता कर लिया था कि इसके घर आने का समय 6 से लेकर 7 बजे का था। 24 दिसंबर को हरीश ने शराब पी कर बाईक कैनाल रोड़ पर खड़ी कर अमित की गली में चला गया था जब वह वापस मुड़कर नीचे को आ रहा था तभी अमित की मोटर साइकिल आ गयी। हरिश ने मौका देखते ही अमित को गोली मार दी और भाग गया। आरोपी ने बताया कि वह दूसरे दिन मृतक के घर पर गया था और शव आने से पहले ही शमशान घाट चला गया था ताकि उस पर कोई शक न करे। वह घटना के दिन घर से स्वेटर पहन कर निकला और कैनाल रोड़ पर जाकर जैकेट व टोपी मास्क पहनकर घटना को अंजाम देने गया था। घटना के बाद उसने जैकेट को नहर मे फेंक दिया ताकि कोई शक न कर सके। पुलिस ने आरोपी के पास से घटना में प्रयुक्त तमंचा व एक खोखा कारतूस भी बरामद किया है। आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करते हुए न्यायालय मे‌ं पेश किया जहा से उसे जेल भेज दिया।

पुलिस टीम मे थानाध्यक्ष काठगोदाम भगवान मेहर ,उप निरीक्षक चंद्रशेखर कन्याल ,हरीश आर्य ,दिलीप कुमार , कांस्टेबल मोहन जुकरिया ,राजा राम सिंह , एसओजी प्रभारी रवि सैनी , कांस्टेबल एसओजी जितेंद्र कुमार , वीरेंद्र चौहान , कुंदन कठायत , त्रिलोक सिंह , किशन कुमार सर्विलांस आदि शामिल रहे.

Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it