Top
Begin typing your search...

बंगाल के मुख्य सचिव और डीजीपी दिल्ली तलब, सियासी घमासान तेज

बंगाल के मुख्य सचिव और डीजीपी दिल्ली तलब, सियासी घमासान तेज
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के काफिले पर पश्चिम बंगाल में गुरूवार को पथराव की घटना को बेहद गंभीरता से लेते हुए राज्य के मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक को सोमवार को तलब किया है। मंत्रालय ने इस मामले में गुरूवार को ही राज्य सरकार से कानून व्यवस्था की स्थिति तथा इस घटना के बारे में रिपोर्ट मांगी थी।

गृह मंत्रालय ने एक और कदम उठाते हुए शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव तथा पुलिस महानिदेशक को एक चिट्ठी भेजकर सोमवार को तलब किया है। सूत्रों के अनुसार यह कदम राज्य सरकार की ओर से रिपोर्ट मिलने के बाद उठाया गया है।

बता दें कि प्रकाश नड्डा पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन यानी गुरूवार को जब डायमंड हार्बर जा रहे थे तो उनके काफिले पर पथराव किया गया। बुधवार को भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई के अध्यक्ष ने गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर प्रकाश नड्डा की सुरक्षा को लेकर बरती गयी लापरवाही का मामला उठाया था।

केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए कहा था कि केन्द्र इस घटना का गंभीरता से संज्ञान ले रहा है। उन्होंने टि्वट कर कहा, " बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा के ऊपर हुआ हमला बहुत ही निंदनीय है, उसकी जितनी भी निंदा की जाये वो कम है। केंद्र सरकार इस हमले को पूरी गंभीरता से ले रही है।

बंगाल सरकार को इस प्रायोजित हिंसा के लिए प्रदेश की शांतिप्रिय जनता को जवाब देना होगा। तृणमूल शासन में बंगाल अत्याचार, अराजकता और अंधकार के युग में जा चुका है। टीएमसी के राज में पश्चिम बंगाल के अंदर जिस तरह से राजनीतिक हिंसा को संस्थागत कर चरम सीमा पर पहुँचाया गया है, वो लोकतांत्रिक मूल्यों में विश्वास रखने वाले सभी लोगों के लिए दु:खद भी है और चिंताजनक भी।"


Shiv Kumar Mishra
Next Story
Share it