Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कोलकाता > कोलकाता में घमासान, पुलिस ने CBI को पुलिस कमिश्नर के घर जाने से रोका, अफसरों को थाने ले गई पुलिस

कोलकाता में घमासान, पुलिस ने CBI को पुलिस कमिश्नर के घर जाने से रोका, अफसरों को थाने ले गई पुलिस

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा कि कोलकाता के पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे ऑफिसर हैं?

 Special Coverage News |  3 Feb 2019 2:01 PM GMT  |  दिल्ली

कोलकाता में घमासान, पुलिस ने CBI को पुलिस कमिश्नर के घर जाने से रोका, अफसरों को थाने ले गई पुलिस

पश्चिम बंगाल के चर्चित सारदा चिटफंड मामले की जांच के लपेटे में कोलकाता के पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार भी आ गए हैं. सीबीआई की एक टीम राजीव कुमार से पूछताछ करने के लिए उनके घर पहुंच गई है. मौके पर कोलकाता पुलिस के दो डिप्टी कमिश्नर मौजूद हैं. कोलकाता पुलिस के अधिकारी सीबीआई की टीम से कोर्ट का वारंट देखने की मांग कर रहे हैं. सीबीआई के अधिकारी जब पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के घर जाने की कोशिश कर रहे थे उस वक्त उनकी वहां मौजूद पुलिसकर्मियों के साथ हाथापाई भी हुई.



इसके बाद सीबीआई टीम शेक्सपीयर सारनी थाने जा रही है. कोलकाता के कमिश्नर का घर इसी थाने के तहत पड़ता है. इस वक्त पुलिस कमिश्नर के घर को कोलकाता पुलिस ने घेरकर रखा है. आसपास सुरक्षा बढ़ा दी गई है. सीबीआई का ये एक्शन ऐसे वक्त में हुआ है जब कोलकाता पुलिस ने प्रेस कांफ्रेंस कर इस रिपोर्ट को खारिज कर दिया था कि पुलिस कमिश्नर सीबीआई जांच के दायरे में हैं. यहां तक कोलकाता पुलिस ने ऐसी खबरें चलाने को लेकर मीडिया के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी थी.


बता दें कि ये राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील मामला है. शनिवार को जब मीडिया में खबर आई कि चिटफंड घोटाले के मामले में सीबीआई को कोलकाता पुलिस कमिश्नर की तलाश है तो इस मामले में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी कूद पड़ीं.

पुलिस कमिश्नर की ईमानदारी सवालों से परे- ममता

ममता बनर्जी ने ट्वीट कर कहा कि कोलकाता के पुलिस कमिश्नर दुनिया के सबसे अच्छे ऑफिसर हैं. ममता ने ट्वीट किया, "उनकी ईमानदारी और बहादुरी सवालों से परे है, वह दिन रात काम कर रहे हैं और वह हाल ही में एक दिन की छुट्टी पर थे."


बीजेपी नेतृत्व पर भड़कते हुए ममता ने कहा कि बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व घटिया किस्म की बदले की राजनीति कर रहा है, ना सिर्फ राजनीतिक पार्टियां उनके निशाने पर है बल्कि वे लोग पुलिस को भी टारगेट कर रहे हैं इस तरह वे पूरी संस्था को बर्बाद करना चाहते हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि हम इसकी निंदा करते हैं.

क्या है सारदा चिटफंड

साल 2013 में देश की सुर्खियों में आए सारदा घोटाले में 10 हजार करोड़ रुपये की जालसाजी का आरोप है. जिसके मुताबिक सारदा चिटफंड ग्रुप के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर सुदीप्त सेन ने कई स्कीमों के जरिए बंगाल और उड़िसा के करीब 14 लाख निवेशकों से पैसा जुटाया और उन्हें ठगा. ईडी अब तक सारदा की छह संपत्तियों की कुर्की कर चुका है, जिसकी कीमत 500 करोड़ रुपये है. एक्टर से राजनीतिज्ञ बने तृणमूल कांग्रेस के सांसद मिथुन चक्रवर्ती ब्रांड एंबेस्डर के तौर पर सारदा कंपनी से लिए गए 1.20 करोड़ रुपये पहले ही ईडी को सौंप चुके हैं.

Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...
Next Story
Share it
Top