Top
Home > राज्य > पश्चिम बंगाल > कोलकाता > बोरो माँ बिनपानी देवी शारदीय कार्यक्रम में जब कैलाश विजयवर्गीय ने गाया यह गाना तो रोने लगी भीड़

बोरो माँ बिनपानी देवी शारदीय कार्यक्रम में जब कैलाश विजयवर्गीय ने गाया यह गाना तो रोने लगी भीड़

 Special Coverage News |  18 March 2019 8:23 AM GMT  |  दिल्ली

बोरो माँ बिनपानी देवी शारदीय कार्यक्रम में जब कैलाश विजयवर्गीय ने गाया यह गाना तो रोने लगी भीड़
x

पश्चिम बंगाल के चुनावी मैदान मैं सबसे महत्वपूर्ण भूमिका मतुआ समाज की रहती है। मतुआ समाज की वोट 70+ बिधानसभा सीट पर अपना असर रखता है और हार जीत का निर्णय भी करता है. अभी बीते दिनों मतुआ समाज की मुखिया से पीएम मोदी ने भी आशीर्वाद लिया था.

मतुआ समाज की मुखिया उपदेस्ता बोरो माँ बिनपानी देवी की शारदीय क्रिया पर आज भाजपा के महासचिव और बंगाल के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने उपस्तिथ होकर "बोरो माँ" को गन्ना गाकर श्रद्धा सुमन अर्पित किये. एक महिना पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने जाकर बिनपानी देवी से मिलकर आशीर्वाद माँगा था.

मोदी ने उन्हें नागरिकता बिल पास करने का वादा किया था. मतुआ समाज विभाजन के बाद बांग्लादेश से आया हुआ है. मतुआ समाज दलित समाज से आता है. मतुआ समाज की बड़ी मात्रा में वोट होने के कारण 2011 में ममता बनर्जी ने बिनपानी देवी को "मां" बोला था.

बता दें कि मतुआ महासंघ की अध्यक्षा वीणापानि देवी का मार्च के महीने में कोलकाता स्थित एक अस्पताल में को निधन हो गया था. इस कारण मतुआ समाज ने उनका शारदीय कार्यक्रम किया था जिसमें कैलाश विजयवर्गीय ने भाग लिया था.



Tags:    
स्पेशल कवरेज न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें न्यूज़ ऐप और फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर, Telegram पर फॉलो करे...
Next Story
Share it