Top
Begin typing your search...
Home संपादकीय

संपादकीय

जो डर गया समझो बच गया,  2020 कोविड-19 का साल ,लोगों ने हाथ से हाथ मिलाना तक बंद कर दिया

जो डर गया समझो बच गया, 2020 कोविड-19 का साल ,लोगों ने हाथ से हाथ...

जो डर गया समझो बच गया 2020 कोविड-19 का साल लोगों ने हाथ से हाथ मिलाना बंद कर दिया पूरा साल बहुत लोगों के लिए बहुत खराब साल साबित हुआ पूरी दुनिया ने एक ...

पालघर पर चीखने वाले हाथरस पर खामोश, हाथरस पर रोने वाले राजस्थान में खामोश!

पालघर पर चीखने वाले हाथरस पर खामोश, हाथरस पर रोने वाले राजस्थान में...

भारत में मौजुदा परिस्तिथियों में आम आदमी का जीवन जीना दूभर होता जा रहा है. धर्म सम्प्रदाय की राजनीत से देश में कई कमियां आ जाती है. लेकिन वोट के...

मारे जा रहे पीटे जा रहे कोसे जा रहे दुत्कारे जा रहे निर्दोष ब्राह्मण, पुजारी और संत आखिर किससे न्याय मांगे

मारे जा रहे पीटे जा रहे कोसे जा रहे दुत्कारे जा रहे निर्दोष ब्राह्मण,...

लगातार हो रही हत्याओं के पीछे के षड्यंत्र को सामने लाने के लिए सीबीआई की जांच हो आखिर क्या कारण है.पांच छह महीनों से लगातार एक पर एक घटनाएं पूरे देश...

गांधी से नहीं जीत सकती दुनिया की कोई भी फौज !

गांधी से नहीं जीत सकती दुनिया की कोई भी फौज !

इस मसले पर गांधी से नफ़रत करने वालों का मानना था कि लड़ाई तो सुभाष चन्द्र बोस, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे वे क्रांतिकारी लड़ रहे हैं, जो बम/ गोली/...

सरकार बदलती है भ्रष्ट्राचार नही बदलता, माफिया वही होते है पार्टी बदल जाती है!

सरकार बदलती है भ्रष्ट्राचार नही बदलता, माफिया वही होते है पार्टी बदल...

अक्सर कहा जाता है कि सरकार बदलने से भ्रष्ट्राचार मे कमी आते है और लोगों को खुशहाल जिंदगी जीने को मिलते है। लेकिन ये सब बाते खोखले ही है। भ्रष्ट्राचार...

Share it